5 मिनट के ओम मंत्र आपको प्रसन्न कर सकते हैं?

यदि आप किसी भी कारण से अवसाद में हैं, तो आपको कम से कम 5 मिनट तक पूरी तरह से चेतना के साथ ओम मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।

उस समय जब आप अवसाद में होते हैं तो आपका ध्यान आपकी समस्याओं पर होता है, लेकिन जब आप मंत्र का उच्चारण करते हैं तो आप विचारों के बीच एक अंतराल बना सकते हैं, आप कुछ समय के लिए अपने विचारों से मुक्त हो सकते हैं।

अवसाद और चिंता को दूर करने के लिए यह अंतराल बहुत सहायक है।

जैसे-जैसे यह विचारों के बीच का अंतराल बढ़ता जाएगा आप उतनी ही जल्दी डिप्रेशन से बाहर आ जाएंगे |

मेरा नाम दीपक यादव है और मैं एक Life coach हूं, मैं 2016 के वर्ष में भी बहुत Depressed था, लेकिन मैंने इसे overcome कर लिया और अब मैं अवसाद ग्रस्त लोगों की मदद कर रहा हूं।

मैंने प्राकृतिक तरीके से डिप्रेशन को दूर करने के लिए एक ईबुक लिखी है इसलिए इसे पढ़ें।

EBOOK ENGLISH : https://payhip.com/b/EfO4

ई-पुस्तक हिंदी : https://imojo.in/27emr0a

मुफ्त अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल से जुड़ें:
https://t.me/lifecoachdeepak

motivate kaise rahe ?

प्रेरणा कैसे प्राप्त करें ?

हम सभी के पास दिन में 24 घंटे होते हैं लेकिन हम में से कुछ खुश होते हैं और हममें से कुछ दुखी होते हैं,
सुबह में प्रेरित होने के लिए आप इन सरल दिनचर्या का पालन करें।

  1. सकारात्मक पुष्टि: जब आप सुबह उठते हैं तो खुद को बताएं कि मैं इस ग्रह पर पैदा होने वाला सबसे महान व्यक्ति हूं |
  2. सोने से पहले अगले दिन की कार्ययोजना बनाए
  3. सुबह-सुबह प्रेरित होने के लिए आप की कार्य योजना 1 दिन पहले रात में बना ले की अगली सुबह आपको क्या-क्या करना हैं | आप प्रेरित होंगे क्योंकि आप पहले से ही जानते हैं कि आप आज क्या करेंगे।
  1. लक्ष्य लिखें और उनकी समीक्षा करें
    आपको प्रतिदिन लक्ष्य लिखना होगा और उनकी समीक्षा करनी होगी, यदि आपने उन लक्ष्यों को पूरा कर लिया है तो आपको उपलब्धि का अहसास होगा।

मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि आप सुबह अपने आप को प्रेरित करने के लिए क्या करते हैं?

हमें विचार कहां से आते हैं ?

विचार हमें पुराने विचारों की वजह से आते हैं |

विचार हमें पुराने विचारों की वजह से आते हैं, जिस तरह मनुष्य, मनुष्य को उत्पन्न करता है |
उसी तरह विचार भी एक दूसरे विचार उत्पन्न करता है |

नए विचार का पुराने विचारों से उसी तरह का संबंध है जिस तरह का संबंध पलकों का अपने बच्चों से होता है |

nind aane ke upay in hindi

नींद आने के 10 उपाय :

क्या आप जानते हैं जब आप अगली सुबह उठेंगे तो लगभग ढाई लाख लोग नहीं जागेंगे तो आप अपने आप को देखिए और मुस्कुराइए और फिर अपने लोगों को देखिए थोड़ा और मुस्कुराइए सब सब उठ चुके हैं |

आज हम बात करेंगे अच्छी नींद के 10 उपाय के बारे में : –

  1. सोने के 2 घंटे पहले से मोबाइल को छोड़ दे |
  2. उठने के लिए अलार्म का इस्तेमाल ना करें |
  3. सोने से पहले किसी आध्यात्मिक बुक का एक अध्ययन जरूर पढ़ें |
  4. सोने से 4 घंटे पहले भोजन खा ले |
  5. अगर आप इंडिया में हो तो उत्तर दिशा में सिर करके ना सोए |
  6. अगर आपको नींद नहीं आ रही है, तो लंबी लंबी सांसे ले और अपना ध्यान उन सांसो पर केंद्रित करें |
  7. उठने के ठीक बाद अपनी दोनों हाथों की हथेलियों को रगड़े और आंखों पर लगाए |
  8. अगर आपको नींद से संबंधित कोई बीमारी है तो किसी विशेषज्ञ को जरूर दिखाएं |
  9. एक अच्छी नींद के लिए अपने आप को सोने से पहले खुशी और दुख से दूर करें |
  10. अगर सब कुछ कर लेने के बाद भी आपको नींद नहीं आ रही है तो उस नींद की भरपाई के लिए मेडिटेशन जरूर करें |

Kya Depression pagalpan hai?

अवसाद पागलपन नहीं है |

वास्तव में अवसाद पागलपन नहीं है, अगर कोई व्यक्ति डिप्रेशन से गुजर रहा है, तो इसका मतलब यह नहीं की वह व्यक्ति पागल है |

अवसाद और पागलपन मन की दो अलग-अलग मानसिक अवस्थाएं हैं |

अगर आप डिप्रेशन में हो, तो इसका मतलब यह नहीं कि आप पागल हो, इसका मतलब यह है कि आप एक सही राह से भटक गए हो |

अगर आप डिप्रेशन से बाहर आना चाहते हो तो आप को सही राह पर चलना होगा |