Category: depression

5 मिनट के ओम मंत्र आपको प्रसन्न कर सकते हैं?

0Shares

यदि आप किसी भी कारण से अवसाद में हैं, तो आपको कम से कम 5 मिनट तक पूरी तरह से चेतना के साथ ओम मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।

उस समय जब आप अवसाद में होते हैं तो आपका ध्यान आपकी समस्याओं पर होता है, लेकिन जब आप मंत्र का उच्चारण करते हैं तो आप विचारों के बीच एक अंतराल बना सकते हैं, आप कुछ समय के लिए अपने विचारों से मुक्त हो सकते हैं।

अवसाद और चिंता को दूर करने के लिए यह अंतराल बहुत सहायक है।

जैसे-जैसे यह विचारों के बीच का अंतराल बढ़ता जाएगा आप उतनी ही जल्दी डिप्रेशन से बाहर आ जाएंगे |

मेरा नाम दीपक यादव है और मैं एक Life coach हूं, मैं 2016 के वर्ष में भी बहुत Depressed था, लेकिन मैंने इसे overcome कर लिया और अब मैं अवसाद ग्रस्त लोगों की मदद कर रहा हूं।

मैंने प्राकृतिक तरीके से डिप्रेशन को दूर करने के लिए एक ईबुक लिखी है इसलिए इसे पढ़ें।

EBOOK ENGLISH : https://payhip.com/b/EfO4

ई-पुस्तक हिंदी : https://imojo.in/27emr0a

मुफ्त अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल से जुड़ें:
https://t.me/lifecoachdeepak

0Shares

हमें विचार कहां से आते हैं ?

0Shares

विचार हमें पुराने विचारों की वजह से आते हैं |

विचार हमें पुराने विचारों की वजह से आते हैं, जिस तरह मनुष्य, मनुष्य को उत्पन्न करता है |
उसी तरह विचार भी एक दूसरे विचार उत्पन्न करता है |

नए विचार का पुराने विचारों से उसी तरह का संबंध है जिस तरह का संबंध पलकों का अपने बच्चों से होता है |

0Shares

Kya Depression pagalpan hai?

0Shares

अवसाद पागलपन नहीं है |

वास्तव में अवसाद पागलपन नहीं है, अगर कोई व्यक्ति डिप्रेशन से गुजर रहा है, तो इसका मतलब यह नहीं की वह व्यक्ति पागल है |

अवसाद और पागलपन मन की दो अलग-अलग मानसिक अवस्थाएं हैं |

अगर आप डिप्रेशन में हो, तो इसका मतलब यह नहीं कि आप पागल हो, इसका मतलब यह है कि आप एक सही राह से भटक गए हो |

अगर आप डिप्रेशन से बाहर आना चाहते हो तो आप को सही राह पर चलना होगा |

0Shares

Ek galti jisne mujhe depressed kar diya

0Shares

एक गलती जिसने मुझे उदास कर दिया |

दुनिया में हर चीज cause-and-effect की वजह से होती है, मेरे डिप्रेशन के पीछे भी एक कॉल था |

Depression का cause हर एक व्यक्ति के लिए अलग-अलग या एक समान हो सकता है,
लेकिन एक ही नहीं हो सकता है |

अगर मैं अपने डिप्रेशन के cause की बात करूं तो वह था addiction of pornography.

फिर मैंने अपनी इच्छाशक्ति से addiction of pornography को addiction of spirituality
मैं बदल लिया |

और बहुत जल्द लगभग 6 महीने में मैं डिप्रेशन से बाहर आ गया |

0Shares

अकेले रहकर भी खुश कैसे रहें ?

0Shares

हां, हम अकेले हो कर भी खुश रह सकते हैं, अकेले रहकर खुश होने में सही समझ होना चाहिए |

अगर हमारी समझ सही नहीं है, तो अकेले होकर खुश रहना थोड़ा मुश्किल है |

आप पहले से जानते हैं हमारी मूलभूत आवश्यकताएं रोटी, कपड़ा और मकान है |

अगर हमारे पास खाने के लिए रोटी, पहनने के लिए कपड़े, और रहने के लिए मकान है, तो और कुछ नहीं चाहिए, यह एक सही समझ की बात है |

अगर हमारी समझ सही नहीं है, तो बहुत सी ऐसी चीजें हैं, जिन्हें पाने की चाह है, जैसे कि अच्छी गाड़ी, अच्छा लाइफ पार्टनर, कुल मिलाकर हमारे अंदर बहुत सी ऐसी चीज है, जिन्हें पाने की चाह है |

और हमें लगता है कि ख्वाइश पूरी हो जाने के बाद हम खुश हो जाएंगे, जबकि यह एक भ्रम है |

वास्तव में हमें खुश होने के लिए किसी व्यक्ति या वस्तु की आवश्यकता नहीं है, सिर्फ एक सही समझ की जरूरत है |

0Shares