Updated : Aug 25, 2020 in Best book on depression

Depression ko kaise khatam kare – 8

0Shares

शक की बीमारी का इलाज

क्या आप जानते हैं, हर चीज के पीछे cause-and-effect होता है, अगर आप अपने आप पर doubt कर रहे हैं, या किसी और पर doubt कर रहे हैं, तो यहां पर एक cause है |

जिसके base पर आप doubt कर रहे हैं |

आपको अपने आप से detached होकर देखना होगा , जो आपका डाउट है वह कोई illusion है या फिर कोई एक reality हैं |

अगर यह doubt अपने आप पर हैं तो आपको देखना होगा,

आपको observe करना होगा किस तरह के विचार आपके दिमाग में आ रहे हैं, उसका cause क्या है |

उदाहरण के लिए मान लेते हैं , आप एक जंगल से गुजर रहे हैं , जहां पर बब्बर शेर रहता है
और आप doubt कर रहे हैं कि आपको वहां से गुजर ना चाहिए या नहीं गुजरना चाहिए |

यहां पर doubt होना ही चाहिए | इंसान होने का
एक फायदा यह भी है कि आप को डाउट होता है |

एक और उदाहरण से समझते हैं : अगर आप आपका पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं शेयर मार्केट जैसी जगह में
जिसका अनुभव आपको नहीं है , और आप को डाउट आ रहा है आपको पैसे इन्वेस्ट करना चाहिए या नहीं करना चाहिए | तब यह डाउट सिर्फ डाउट नहीं है यह इंटेलिजेंस है | क्योंकि यह कोई illusion नहीं है |

एक और उदाहरण के माध्यम से डाउट को समझते हैं : मान लो आप की शादी नहीं हो रही है, अब काफी दिनों से पार्टनर की तलाश कर रहे हैं , और आपने अपना हाथ किसी जोशी को दिखाया है , और जोशी ने बोला है 5 मंगलवार के उपवास रखने से शादी हो जाएगी

और आपने उसकी बात बिना किसी doubt के मान ली और आप लग गए पांच उपवास करने मंगलवार के क्या यह एक illusion नहीं है |

क्या chances है शादी हो जाएगी?

और अगर by chance हो गई , तो क्या आपका illusion एक reality नहीं बन जाएगा |

आप अपनी कहानी लोगों को बताओगे

और लोग भी ऐसी चीजों पर जल्दी विश्वास करते हैं क्योंकि यहां पर दिमाग लगाने की जरूरत नहीं होती

इसी तरह अगर आप एक रिलेशनशिप में हो तब भी आपको देखना चाहिए |

जो आपका डाउट है उसका cause क्या है?

क्या आपका डाउट किसी illusion पर आधारित है?

क्या आपका डाउट किसी सच्चाई पर आधारित है ?

इस तरह के प्रश्न अपने आप से करना डाउट नहीं इंटेलिजेंस है |

NEXT 9 : ब्रेकअप से निपटने के तरीके

0Shares

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *