Updated : Nov 22, 2020 in Uncategorized

khud ko kaise badle

0Shares

अगर आप खुद आपके मन में झांके तो अपने आपकी कैसी छवि आप देखना चाहोगे ?


सामान्यता एक मानसिक बीमार व्यक्ति के मन में सिर्फ नकारात्मक विचार चलते रहते हैं जैसे कि –

  • मैं यह नहीं कर सकता, 
  • मैं यह नहीं चाहता, 
  • मुझे यह पसंद नहीं, 
  • मुझे यह मैं यह नहीं कर सकता आदि |


क्या आप जानते हैं, यह नकारात्मक विचार क्यों आते हैं? 

यह नकारात्मक विचार इसलिए आते हैं, क्योंकि हम जीवन को उसके आदर्श रूप में स्वीकार करना नहीं जानते हैं |


हम जीवन को केवल शरीर और मन से अनुभव करते हैं, जिसमें ज्ञानेंद्रियों का बहुत महत्व होता है, लेकिन वास्तव में हमारी ज्ञानेंद्रियां अपने आप में बहुत सीमित है |


मानसिक शांति पाने के लिए हमें सिर्फ और सिर्फ एक काम करना है, बस अपने आप को अपनाना है,  चाहे आपकी परिस्थिति कितनी ही खराब हो |


चाहे जो भी हो हर परिस्थिति में उस परेशानी को स्वीकार कर लो, अगर आपने ऐसा बस 1 दिन के लिए भी कर लिया, तो आपकी मानसिक अशांति लगभग खत्म हो जाएगी |


इसके लिए आपको बाहर से कुछ नहीं करना है, बस अपने आप को उस परेशानी को उसके मूल रूप में स्वीकार करना है, जैसी वह है |


अगर आपने उस परेशानी को स्वीकार कर लिया अब निश्चित रूप से आप उस समस्या का हल ढूंढ लेंगे |


अगर आप किसी मानसिक परेशानी से परेशान हैं, तो एक बुक जो आपको इस मानसिक समस्या से निकलने में मदद कर सकती है | 

thank you.

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *