Updated : Mar 06, 2020 in psychology

mai bahut pareshan hu kya karu by Deepak yadav

0Shares

हम सभी की लाइफ अलग अलग है, तो निश्चित रूप से सब की परेशानी अलग अलग है|

हम इंसानों की परेशानी अपना डर होती है, वास्तव में हर परेशानी की वजह एक डर है , यह डर किसी भी प्रकार का हो सकता है , हो सकता है यह डर भूतकाल में घटित घटना के आधार पर हो सकता है, या भविष्य की चिंता के रूप में भी हो सकता है |

परेशानी को कैसे खत्म करे ?

परेशानी को खत्म करने का एकमात्र तरीका है परेशानी को समझना , परेशानी को जानना |

परेशानी को खत्म करने के लिए आप को समझना होगा , क्या यह एक वास्तविक परेशानी है या सिर्फ एक काल्पनिक परेशानी |

काल्पनिक परेशानी को समझने का प्रयास करते हैं अगर आपको चिंता है कि मरने के बाद आपको स्वर्ग मिलेगा तो इस तरह की चिंता या परेशानी काल्पनिक मात्र है, इसका समाधान अपनी समझ को विकसित करके किया जा सकता है |

वास्तविक परेशानी अगर बात करें वास्तविक परेशानी की तो जिनका अस्तित्व होता है जैसे कि आपकी फैमिली में 4 लोग हैं जिनको पोषण देने के लिए आपके पास पर्याप्त धन की व्यवस्था नहीं है , इस तरह की परेशानी वास्तविक परेशानी कहलाती है |

वास्तविक परेशानी के हल के लिए आपको शारीरिक व मानसिक रूप से मेहनत करना पड़ता है |

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *