Updated : Sep 11, 2020 in Best book on depression

Mai Depression se bahar kaise aaya ?

0Shares

How did i overcome Depression in Hindi ?

लगभग 4 साल पहले, जब मैं कॉलेज में था, तो मैं भी बहुत उदास था, मरने के अलग-अलग रास्ते खोज रहा था, मैं सो नहीं पा रहा था, कुल मिलाकर मैं बहुत उदास था।

और आज मैं अपने अनुभव से बताना चाहूंगा कि आप भी चिंता, अवसाद और तनाव से मुक्त हो सकते हैं जैसे मैंने किया।

मैं न तो एक मानसशास्त्री हूं, न ही एक मनोवैज्ञानिक,
मेरा नाम दीपक यादव है, और मैं आध्यात्मिक शिक्षक हूँ।

सही सोच अवसाद और चिंता को दूर कर सकती है।

जब मैं अवसाद में था, तो मैं सही दिशा में सोच नहीं पा रहा था, क्योंकि मेरे दिमाग में गलत विचारों का कार्यक्रम था।

लेकिन मैं इस बात से अनजान था कि मेरे दिमाग में गलत जानकारी है, इसलिए मेरे दिमाग में गलत विचार आ रहे थे।

फिर मैंने अपनी दिनचर्या के साथ अपनी आदतों को बदल दिया फिर 6 महीने बाद मैं पूरी तरह से अलग व्यक्ति था।

अवसाद मेरे साथ अधिक नहीं था, इसलिए आपको अवसाद को दूर करने और अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिए सही समय पर सही दिशा में सही कदम उठाना चाहिए।

इसलिए मैंने यह बुक लिखी है, जिसका एकमात्र उद्देश्य लोगों की लाइफ स्टाइल को बदल कर उन्हें डिप्रेशन से बाहर निकालना है |

इस बुक का नाम ” डिप्रेशन कोई बीमारी नहीं बल्कि एक जीवन शैली है, जिसे बदला जा सकता है ” है |

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *