Deepak Yadav

how to cure depression in Hindi

0Shares

Mai kyu apna past bhulna chahta tha

मैं अपनी स्टोरी से बताना चाहूंगा, हम क्यों पास्ट को भूलना चाहते हैं |

सन 2016 में मैं बहुत ज्यादा डिप्रेशन में था, मेरा कोई एक विचार जो बार-बार मेरे अंदर आ जाता था

वास्तव में वह विचार कोई मामूली विचार नहीं था वह एक ‘डर’ था |

मैं सोचता था वह डर का विचार मेरे अंदर नहीं आना चाहिए , लेकिन वह बार-बार आ जाता था |

उसका एक कारण यह था कि माइंड को पता ही नहीं होता है कि हां क्या है और ना क्या है ?

अगर आपको यकीन नहीं हो तो बोल कर देखो
मुझे ऐसे विचार नहीं आने चाहिए , जो में भूलना चाहता हूं |

अगर सच कहूं तो अभी आप यह पढ़ने में भी डर रहे होंगे |

लेकिन आप निश्चित रहिए इसे पढ़कर आपको फायदा होने वाला है |

kya hoga agar aap aapka past bhul gaye toh ?

अब आप सोचिए क्या होगा अगर आप आपका past भूल गए थे तो ?

आपको आपका नाम नहीं पता होगा

आपको आपके रिश्ते पता नहीं हो गए होंगे

आपका शरीर तो इतना बड़ा होगा पर आपकी बुद्धि और मन एक बच्चे के जैसा होगा |

आपको आपके घर और पड़ोसी के घर में अंतर पता नहीं होगा |

सच कहूं तो कुछ भी पता नहीं होगा आप एक न्यू बोर्न बेबी जैसे व्यवहार करेंगे |

तो क्या अब भी आप आपका past भूलना चाहते हैं
या आपके past से कुछ सीखना चाहते हैं |

शायद आप आपका past भूलना नहीं चाहते आप आपके उन विचारों को भूलना चाहते हैं जिनसे आप डरते हो |

अब आपको पता लग गया होगा कि पास्ट को भूलना लगभग नामुमकिन है |

Apne vicharo ko kaise badle ?

तो सवाल यह आता है कि क्या हम हमारे विचारों को बदल सकते हैं?

हां बिल्कुल हम हमारे विचारों को बदल सकते हैं |

हमारे विचार बार-बार एक ही तरह के इसलिए होते हैं क्योंकि हमारा दैनिक दिनचर्या वैसी ही है जैसी पहले थी |

हम विचारों को तो बदलना चाहते हैं लेकिन दिनचर्या को बदलना नहीं चाहते इसलिए वहीं विचार बार-बार आते हैं |

तो कृपया विचारों को नहीं अपनी दिनचर्या को बदलिए |

क्या आपने कभी देखा है आपने बबूल के पेड़ का बीज बोया और आप वहां से उम्मीद कर रहे हैं कि आम का फल आएगा तो क्या यह संभव है |

अपने विचारों को बदलने के लिए अपने आपको बदल दीजिए |

अपनी ज्ञानेंद्रियां ( आंख, कान, नाक ,त्वचा और मुंह) का इस्तेमाल अच्छी जगह पर करिए |

अच्छे लोगों को सुनिए ,अच्छी किताबों को पढ़िए ,
अच्छे कर्म करिए |

आखिर में मैं सिर्फ यह कहूंगा कि

आप की वर्तमान समस्याओं का cause भूत भूतकाल के कर्म हैं, और वर्तमान समस्या उसका effect है |

BY DEEPAK YADAV

click bellow

how to cure depression in HINDI

comment mai bataiye ki aisa konsa vichar hai jo aap badalna chahte hai ?

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *