Tag: motivation

हमेशा मोटिवेट कैसे रहे ?

0Shares

motivation kya hai?

क्या आप जानते हैं, आप का सबसे बड़ा मोटिवेशन क्या है, हर व्यक्ति अपने आप में अलग है, इसलिए हो सकता है हम सभी के डर और ख्वाहिश अलग-अलग हैं , उस आधार पर सबके मोटिवेशन का कारण अलग-अलग है |

किसी के लिए सबसे बड़ा मोटिवेशन उनका लक्ष्य हो सकता है, लेकिन क्या होगा उस मोटिवेशन का अगर वह लक्ष्य प्राप्त हो जाए |

हो सकता है किसी के लिए सबसे बड़ा मोटिवेशन के सपने हो, लेकिन क्या आपका यह मोटिवेशन उस समय भी बना रहेगा जब आपके सपने पूरे हो जाएंगे|

या हो सकता है किसी के लिए सबसे बड़ा मोटिवेशन फेम हो, तो क्या बहुत फेमस हो जाने के बाद वह हमेशा मोटिवेट रहेगा, शायद नहीं !

या हो सकता है, पैसा किसी के लिए सबसे बड़ा मोटिवेशन हो, लेकिन क्या बहुत सारा धन होने पर व्यक्ति हमेशा मोटिवेट रह सकता है, शायद नहीं !

लेकिन मेरे अनुसार सबसे बड़ा मोटिवेशन होती है मृत्यु , जो कि कोई टेंपरेरी मोटिवेशन नहीं है हमेशा के लिए है, क्या होगा अगर आप जानते हो एक दिन आप मर जाओगे |

हम हमारी जिंदगी सामान्यता इस तरह जीते हैं कि हम हमेशा इस धरती पर रहने वाले हैं, अगर हम हमेशा हर दिन इस तरह जिए, कि कल हम मरने वाले हैं, तो इससे बड़ा मोटिवेशन कुछ नहीं होगा और इस तरह हम हमेशा के लिए मोटिवेट हो सकते हैं |

0Shares

what is motivation & how does motivation work in Hindi

0Shares

मोटिवेशन क्या होता है ?

मोटिवेशन

मोटिवेशन एक मानसिक स्थिति है(motivation is a mental state) , जो माइंड( mind) और बॉडी ( body) के बैलेंस से बनती है, डिप्रेशन ( depression )और मोटिवेशन (motivation) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं |

मोटिवेशन (motivation) जो बाहर से हमें मिलता है वह टेंपरेरी (temporary) होता है लेकिन इंस्पिरेशन (inspiration) जो अंदर से बाहर की तरफ आती है वह परमानेंट (permanent) होती है |

बॉडी(body) & माइंड(mind) एक दूसरे से जुड़े हुए हैं क्योंकि
अगर बॉडी(body) थकी हुई है, तो माइंड से कितने ही मोटिवेशन वीडियो देख लो या बुक पढ़ लो क्योंकि बॉडी को आराम की जरूरत है आप मोटिवेट नहीं हो सकते |

इसके ठीक विपरीत अगर किसी की डेथ(death) हो गई अब बॉडी(body) से कितने भी काम करें जो भी करें आप मोटिवेट नहीं हो सकते क्योंकि बॉडी और माइंड का बैलेंस नहीं है |
ना तो हम हमेशा motivate रह सकते हैं ना ही हम हमेशा के लिए depressed हो सकते हैं |

अगर आप हर समय motivate नहीं होते तो संभव है आप किसी बड़ी गलती करने से शायद बज जाए |

वह moment जब आप Demotivated हो वह सबसे अच्छे पल है जहां आप आराम कर सकते हैं क्योंकि हर समय तो हम मोटिवेट नहीं हो सकते हर समय excited नहीं रह सकते |

क्या आपने सोचा है कभी जिस काम को आप दिल से पसंद करते हैं उसके लिए motivation कहां से आती है?

मान लो आपको गेम में इंटरेस्ट (interested in game) है, तो क्या गेम खेलने के लिए आपको किसी मोटिवेशन की जरूरत है?

शायद ! नहीं तो क्यों आपको किसी काम को करने के लिए मोटिवेशन की जरूरत होती है ?

जिस काम में आपको मोटिवेशन (motivation) चाहिए उसमें आपका इंटरेस्ट नहीं है उस काम में मोटिवेट होने के लिए उस काम को इंटरेस्टिंग (interesting) बना दीजिए |

शायद हो सकता है आपका जो काम आप कर रहे हो वह इंटरेस्टिंग है लेकिन फिर भी आप किसी काम में हमेशा मोटिवेट नहीं रह सकते |

आप हमेशा मोटिवेटेड इसलिए नहीं रह सकते क्योंकि आपकी बॉडी और माइंड को भी रिलैक्स(relax) चाहिए

मोटिवेशन किस तरह काम करता है?
How does motivation work in Hindi ?

मोटिवेशन किस तरह काम करता है ?


इसे समझते हैं यदि कोई व्यक्ति रात के समय किसी भयानक जगह से निकल रहा है और वह उस जगह से अनजान है वहां पर एक शेर भी है |

तो क्या उसे मोटिवेट होकर वहां से उस जंगल में जाना चाहिए???

लेकिन अगर उस जंगल में कोई आपका बहुत करीबी फंसा है जिसे आप अपने से ज्यादा चाहते हो उसे आप को बचाना हो?

दूसरी सिचुएशन में यहां मोटिवेशन नहीं इंस्पिरेशन है, अगर आपके अंदर से उस करीबी को बचाना है |

अब अगर बात करें पहली सिचुएशन में शायद आपको मोटिवेशन की जरूरत है, और अगर बात दूसरी सिचुएशन की करें तो आप पहले से मोटिवेट हो क्योंकि यह आपकी बर्निंग डिजायर है |

Life में जिसकी जितनी importance है, उसका उतना ही महत्व है, इसी तरह अगर आपको कोई काम करना है | उसकी जितनी ज्यादा डिजायर होगी तो मोटिवेशन अपने आप आ जाएगा |

अगर वह काम आप की एक छोटी सी इच्छा है तो आपको यह मोटिवेशन लगाना पड़ेगा और यहां पर जो भी मोटिवेशन लगेगा वह सब एक्सटर्नल मोटिवेशन ( external motivation) है |

किसी भी काम में मोटिवेट motivate होने के लिए बर्निंग डिजायर burning desire की नीड होती है, तब तक मोटिवेशन motivation नहीं आ सकता अगर किसी चीज को पाने के लिए आप का डिजायर बहुत तगड़ा है तो आपको किसी भी तरह से मोटिवेशन की आवश्यकता नहीं है, ज्यादातर टाइम हम सोचते बहुत है और action नहीं लेते और वेट wait करते रहते हैं कि हम मोटिवेट क्यों नहीं हो रहे हैं |

Depression और motivation एक दूसरे को प्रभावित करते हैं क्या आपको लगता है कि अगर आप हमेशा मोटिवेट(motivate) रहोगे तो आपका काम हो जाएगा कोई भी व्यक्ति हमेशा मोटिवेट (motivate) नहीं रह सकता हमारी डेली लाइफ( daily life) में कुछ पल नेगेटिव (negative) भी आएंगे जहां आप Demotivate हो सकते हो लेकिन क्या पता यह डिमोटिवेशन आपको बहुत बड़े lose से बचा दे |

मोटिवेशन के फायदे:-

अगर आप मोटे हो बाहर वाला कोई व्यक्ति या दोस्त आपको बोलता है – आप पतले हो सकते हो, आप फिट हो सकते हो और आपने सुनकर एक्शन ले लिया तब तो मोटिवेशन सही है आपके काम का है |

मोटिवेशन के नुकसान:-

अगर आप मोटे हो और पतला होने के लिए external sources के ऊपर निर्भर हो तब तो यह नुकसान है आप किसी एक्सटर्नल सोर्स के ऊपर डिपेंडेंट हो अपने आप में चेंज के लिए अपने आप को बदलने के लिए |

डिमोटिवेशन के नुकसान:-

जब आप मोटे हो और कोई आपको बोलता है मोटा / मोटी तो वहीं कड़वी सच्चाई सुनने के बाद जो आपको feel होता है वही Demotivate के नुकसान है |

डिमोटिवेशन के फायदे :-

अगर आप मोटे हो और सब आपको मोटा बुला रहे हैं और अगर आपको यह सुनकर गुस्सा आ रहा है, तो हो सकता है उससे एक बर्निंग डिजायर create हो, जो बर्निंग डिजायर(burning desire) रहेगी वह एक्शन लेने के लिए मजबूर कर देगी और शायद आप एक्शन लेले |

इस उदाहरण से समझते हैं :- कभी बाइक यह सोचे कि मैं हमेशा चलती रहूं (या मोटिवेट होती रहूं )|

बाइक में पेट्रोल और इंजन का बैलेंस जब तक है तब तक तो गाड़ी चलेगी फिर बंद हो जाएगी उसी तरह मोटिवेशन भी तभी तक चलता है जब तक बॉडी और माइंड का बैलेंस हो |

How to motivate for study in Hindi ?

अगर आप पढ़ने के लिए मोटिवेशन ढूंढ रहे हैं तो जाहिर है कि आप पढ़ाई से bore होते हैं तो इसे interesting बना दो मोटिवेशन की जरूरत ही नहीं पड़ेगी इसे इंटरेस्टिंग बनाने के लिए बहुत बड़ी वजह की तलाश करो अगर वह वजह आपको मिल गई तो हजारों distraction आ जाने के बाद भी आप नहीं रुकोगे बशर्ते वह वजह बहुत बड़ी हो, बहुत बड़ी मतलब बहुत बड़ी |

मोटिवेशन क्या होता है ?

मोटिवेशन एक मानसिक स्थिति है(motivation is a mental state) , जो माइंड( mind) और बॉडी ( body) के बैलेंस से बनती है, डिप्रेशन ( depression )और मोटिवेशन (motivation) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं |

Thank you for reading this blog

0Shares